Category Archives: AyushCenter.com

ब्लड प्रेशर का घरेलू उपचार

आयुर्वेद के अनुसार #high_BP की बीमारी ठीक करने के लिए घर में उपलब्ध कुछ आयुर्वेदिक दबाईया है जो आप ले सकते है । जैसे एक बहुत अच्छी दवा है आप के घर में है वो है दालचीनी जो मसाले के रूप में उपयोग होता है वो आप पत्थर में पिस कर पावडर बनाके आधा चम्मच रोज सुबह खाली पेट गरम पानी के साथ खाइए

कम समय में वजन घटाने का घरेलू नुस्खे !!

एक महीने मे 8-10 किलो वजन घटाने वाला संजीवनी मेजिक ग्रीन ज्युस

  • हरा धनिया – 50 Gms
  • अदरक – 04 Gms
  • करेला – 20 Gms
  • नींबू का रस – 02 teaspoon
  • कढ़ी पत्ता – 02 Gms
  • सेंधा नमक – 01 Gms
  • पानी – 02 Glass

बबुल द्वारा शुक्र धातु से सम्बंधित रोगों का इलाज !!!!

वीर्य का पतलापन, धात, स्वप्नदोष (शुक्रमेह) सभी धातुदोषों को दूर करने वाला व वीर्य की उत्पति करने वाला जबरदस्त नुस्खा।

योग निम्न है:—
बबूल की बिना बीज वाली कच्ची फली 100 ग्राम।
बबूल का गोंद 100 ग्राम।
बबूल की कोंपलें 100 ग्राम।

heart-attack?? हार्ट अटैक का देशी इलाज !

हार्ट अटैक : ना घबराये ….!!

सहज सुलभ उपाय
99 प्रतिशत ब्लॉकेज को भी रिमूव कर देता है पीपल का पत्ता….
पीपल के 15 पत्ते लें जो कोमल, गुलाबी कोंपलें न हों, बल्कि पत्ते हरे, कोमल व भली प्रकार विकसित हों। प्रत्येक का ऊपर व नीचे का कुछ भाग कैंची से काटकर अलग कर दें।

पार्किसन का आयुर्वेदिक तरीके से इलाज !

पार्किंसन का इलाज
Parkinson k lie.100 grm jatamasi.100 ajmoda.100 piplimul.100 grm aswagandha mix krk 1 chamch subha saam le.

कैंसर का उपचार

कैंसर के घरेलु उपचार
केंसर ने आज हर जगह पर फैला लिए है इसका मुख्य कारण धुम्रपान और मद्यपान को माना जाता है किंतु अब यह किसी को भी और किसी भी उम्र में हो सकता है इसका कारण है हमारी अनियमित और बदलती जीवन शैली,खानपान और पर्यावरण में बदलाव।

HIV ?? एच. आई. वी. का इलाज

HIV पॉजिटिव रोगी की चिकित्सा* 🌻

🕉10 ग्राम गिलोय सत्
🕉10 ग्राम प्रवाल पंचामृत
🕉 5 ग्राम कासीस भष्म
🕉 4 ग्राम मोती पिष्टी
🕉 5 ग्राम अभ्रक भष्म
🕉 5 ग्राम स्वर्ण माक्षिक भष्म
🕉 2 ग्राम स्वर्ण बसंत मालती रस
🕉 1 ग्राम बसंत कुस्माकर रस
🕉300 मिग्रा हीरक भष्म

सभी को मिला कर 60 खुराक बनायें, एक -एक खुराक सुबह शाम शहद से दें।
🕉1 गोली उदरामृत वटी
🕉1 गोली आरोग्य वर्धिनी वटी
🕉1 गोली आरोग्य वटी
सुबह शाम भोजन के बाद पानी से दें।
🕉2 बून्द शिलाजीत सत्
दूध में मिला कर दें।

Ayush Center
Hide Buttons